जिले की सीमा के कस्बे में उमड़ा जनसैलाब ,IAS,IPS दम्पत्ति की बिदाई में..

नितेश अलावा अलीराजपुर*✍

नानपुर में आज अलीराजपुर जिले के अपर कलेक्टर सु श्री अनुग्रह पी0 और पुलिस अधीक्षक श्री कार्तिकेयन के0 का तबादला एक साथ गत सप्ताह ही हुआ लगभग 1 वर्ष का बेदाग कार्यकाल विकास की इबारत लिखता दिखाई दिया जिसमे अपर कलेक्टर जिले के कलेक्टर के साथ मिलकर नमामि देवी सेवा यात्रा को सफल बनाया,वही सोण्डवा जेसे जिले के सुदूर छेत्र को ODF(खुले में सोच से मुफ़्त)करवाकर लगातार पुरे जिले में इस पहल को बनाये रखा जिससे आज जोबट भी खुले में सौच से लगभग मुफ़्त होने की कगार पर है।
सु श्री अनुग्रह पी0द्वारा महिला होने के बाद भी अलीराजपुर जेसे जिले में जहा का शाक्षरता प्रतिशत देश में सबसे कम है में विपरीत परिस्थियों में कन्धे से कन्धा मिलाकर और दबंगता से कार्य कर शाशन की कही जनकल्याण कारी योजनाओ को जमिनी स्तर पर लागू करवाया चाहे वो PM आवास हो या अन्य शाशकीय निर्माण की लगातार समीक्षा की गयी जिसका परिणाम साफ़ दिख रहा था,भ्रस्टाचार नियंत्रण कर जिले में विकास के नाम पर सिर्फ कागजो में नही जमींन स्तर पर कार्य और निर्माण दिखाई दिए।
मॉर्निंग फॉलोउप जैसी योजना के साथ राजस्व अमले के साथ मिलकर पंचायत सचिव,GRS,आंगनवाड़ी कार्यकर्ता सहायिका आदि का सही समयानुसार उपयोग किया और प्रोत्साहन भी दिया और नतीजा जिले में 70% लगभग शोचालय का निर्माण को चूका है।
युवाओ के आइकॉन रहे दोनों दम्पत्ति छात्र छात्राओ युवाओ में काफी लोकप्रिय हुए और उनके कार्यशैली और भी प्रभावित रही।
जहा पुलिस अधीक्षक द्वारा लगातार आम जनता के साथ सामन्जस्य स्थापित कर जाती,धर्म,पार्टी,व्यक्ति विशेष से ऊपर उठकर शांति बनाये रखने के लिए काम किया वही जिला CEO अनुग्रह पी द्वारा यूनिसेफ के कार्यकरताओ से कोर्डिनसन कर स्वच्छता अभियान को चरम तक पहुचाया।
श्री कार्तिकेयन के0द्वारा अपनी टीम के साथ जिले की सबसे बड़ी बैंक पैसे की लूट वारदात का पर्दाफाश मात्र 2 महीने में ही नही कर दिखाया,बल्कि जिले में अवैद्य शराब परिवहन पर नियंत्रण,नशा मुक्ति,दहेज़ प्रथा आदि पर नियंत्रण हेतु योजना अनुसार सामाजिक कार्यो में योगदान दिया और सर्व हित में कार्य किया।
जिले में कलेक्टर बोरकर साहब के बाद वर्तमान जिले के प्रमुख कलेक्टर, SP,और अपर कलेक्टर से प्रभावित हुए थे लोग। जिनके अच्छे कार्यकाल के बाद भी तबादला आम जनता के समझ से बहारहै।
आश्चर्य और एक ऐतहासिक पल रहा इस जिले में पहली बार ऐसा हुआ के
तबादले के आदेश बाद से ही विभिन समाज और संगठनो द्वारा भी पुलिस अधीक्षक महोदय को बिदाई दी और उनका सम्मान किया गया जो लगभग 10 समारोह आयोजित हुए,जिस कड़ी में जय आदिवासी युवा शक्ति अलीराजपुर द्वारा भी दो बिदाई समारोह आयोजित किये गत रविवार को इंदरसिंह चौकी भगत आश्रम में 2 घण्टे से ऊपर चले कार्यक्रम में जिलेभर से आये सामाजिक कार्यकरताओ ने उनके कार्यकाल की प्रशंशा करते हुए उन्हें समानित किया और स्म्रति चिन्ह भेट किया।
जिसके बाद पारम्परिक भोजन ताये,बड़े खिलाये गए।जिसमे लगभग 100 कार्यकता शामिल हुए थे।
आज जिले की सिमा पर कस्बा नानपुर में भी जयस द्वारा अंतिम बिदाई ढ़ोल बजे के साथ पुष्प वर्षा कर तिलक कर पगड़ी बांधकर तीर कमान भेट कर शुभकामनाये दी और जल्द ही उच्च पद पर जाकर पुनः अलीराजपुर में अपनी सेवा देने के लिए निवेदन भी किया शुभकामनाये दी और भावपूर्ण बिदाई दी।
इस दौरान जिले से मुकेश रावत,केरम जमरा,विक्रम चौहान,नितेश अलावा,अरविन् कनेश,रितु,विक्की,मुकेश अजनार, नानपुर से वीरेंद्र पटेल, नवलसिंह मण्डलोई,गुलाब पटेल,महताब मण्डलोई,रिजवान शेख पत्रकार,सरपंच समरथ,अंतर,प्रताप,अरुण ,राकेश चौहान,विकास,गणपत, चौहान,राहुल कनेश,अंगर सिंह,बाहर से सागरसिंह निंगवाल और उनके साथी और स्थानीय सेकड़ो लोग उपस्थित रहे।

अलीराजपुर