इंदौर में GST के नाम पर अवैध वसूली, कार समेत 3 फर्जी GST अफसर पकड़े गए

इंदौर । मोदी सरकार जो भी करती है ढोल ढमाके के साथ करती है लेकिन उसका जनता पर उल्टा असर होता है। नोटबंदी के समय 2000 का नोट जारी होने से पहले ही इतना शोर हुआ कि इसका फायदा उठाते हुए हजारों लोगों ने नकली नोट बनाकर चला दिए। अब जीएसटी का हौआ आम आदमी को डरा रहा है। शातिर चालबाज इसका फायदा उठाते सड़कों पर उतर आए हैं। इंदौर में बायपास पर जैसे आरटीओ अफसर खड़ा होता है वैसे ही 3 जालसाज कार लेकर खड़े हो गए। खुद को जीएसटी अफसर बताते हुए ट्रकों की जांच पड़ताल करने लगे। अवैध वसूली शुरू हो गई।

इंदौर से विकास सिंह चौहान की रिपोर्ट के अनुसार तेजाजी नगर पुलिस ने बायपास पर ट्रक चालकों से जीएसटी के कागजात के नाम पर धमकाने और अवैध वसूली करने की शिकायत पर तीन युवकों को गिरफ्तार किया है। तेजाजी नगर पुलिस के अनुसार, ट्रक ड्राइवरों ने शिकायत की थी कि गुरुवार रात को बायपास पर खुद को अधिकारी बताकर कुछ लोग जीएसटी से जुड़े कागजात मांग रहे हैं। कागजात नहीं दिखाने पर बदसलूकी कर अवैध वसूली के लिए धमकाया जा रहा है।

शिकायत की तस्दीक करने के लिए पुलिस मौके पर पहुंची तो अवैध वसूली कर रहे युवक मौके से भाग गए। पुलिस ने गाड़ी नंबर के आधार पर पीछा कर तीनों को हिरासत में ले लिया। पुलिस गिरफ्त में आए आरोपी इन्दौर व आसपास के रहने वाले है और एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी करते है। पकड़े गए आरोपियों ने अपना नाम आदित्य पिता निर्मल कदम, मनीष बैरागी और राकेश सिजवानी बताया। तीनों आरोपियों के पास से कार भी जब्त की है।

धार
NEWS MAIN CATEGORY: